Breaking

गुरुवार, 12 अक्तूबर 2017

जम्मू-कश्‍मीर: ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर पर जिहादी की फोटो से बवाल, दोषी अधिकारी सस्पेंड

जम्मू-कश्‍मीर: ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर पर जिहादी की फोटो से बवाल, दोषी अधिकारी सस्पेंड

जम्मू-कश्‍मीर में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ कार्यक्रम के एक पोस्टर को लेकर विवाद हो गया है। दरअसल जम्‍मू-कश्‍मीर के पर्यटन विभाग की एक गलती से महबूबा मुफ्ती सरकार को आलोचना की सामना करना पड़ रहा है।

गौरतलब है कि अनंतनाग जिले में एक आधिकारिक कार्यक्रम में एक पोस्‍टर लगाया गया जिसमें दुख्‍़तरान-ए-मिल्‍लत सरगना असिया अंद्राबी को जम्‍मू-कश्‍मीर का महिला रोल मॉडल बताते हुए उसकी तुलना पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और नोबेल पुरस्‍कार विजेता मदर टेरेसा से की गई थी। मामले के तूल पकड़ने के बाद डीसी अनंतनाग ने मामले में दोषी अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है.

राज्‍य सरकार में भागीदार भारतीय जनता पार्टी इस पोस्‍टर पर भड़क गई है। इस पोस्टर में किरण बेदी, लता मंगेशकर, इंदिरा गांधी, सानिया मिर्जा, महबूबा मुफ्ती, मदर टेरेसा, कल्पना चावला की तस्वीर नजर आ रही हैं तो वहीं दूसरी और अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी भी नजर आ रही हैं।

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, जिस ‘एकीकृत बाल विकास सेवा’ की तरफ से यह पोस्‍टर लगाया गया था, वह सामाजिक कल्‍याण मंत्रालय के तहत आता है और भाजपा के सज्‍जाद लोन उसके मंत्री हैं। यह कार्यक्रम कोकरनाग के ब्रेंग में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आयोजित किया गया था जिसमें केंद्र के ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान को प्रमोट किया जाना था। यहां पर दर्जनों अधिकारी व मंत्री मौजूद थे। खुद मुख्‍यमंत्री के भाई तसादुक मुफ्ती ने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की।

अंद्राबी के पाकिस्‍तान में आतंकी संगठन जमात-उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद से जुड़े होने की रिपोर्ट्स सामने आती रही हैं। पुलिस ने उसे कई बार गैरकानूनी गतिविधियों के आरोप में गिरफ्तार किया है। माना जाता है है कि हाफिज से लगातार फोन के जरिए संपर्क में रहती है। अंद्राबी पर घाटी में कई बार पाकिस्‍तानी झंडा फहराकर देश विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने के कई आरोप हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...