Breaking

बुधवार, 18 अक्तूबर 2017

मुस्लिम बाहुल्य आबादी वाले इस गाँव के बच्चों का ये किस्सा आपको चौंका देगा ! जानिए क्या हुआ आगे !

मुस्लिम इलाकों से मिशन इंद्रधनुष मिटा रहा 'मोदी फोबिया'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सबका साथ-सबका विकास की नीति अब जमीनी स्तर पर दिखाई देने लगी है। प्रधानमंत्री मोदी ने हमेशा अपनी रैलियों में देश के सभी नागरिकों को साथ लेकर चलने की बात की है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि सभी के साथ से देश का विकास संभव है। मोदी जी की इस सोच में अब सभी धर्मों का साथ मिलता दिखाई दे रहा है। हालांकि लोग अभी भी इसको लेकर मोदी जी की योजनाओं का विरोध करने में लगे हुए हैं।

मोदी सरकार की नवजात बच्चों के लिए चलाई गई इंद्रधनुष योजना में अब मुस्लिम महिलाएं भी पूरा समर्थन दे रही हैं। इस योजना को लेकर यूपी के बस्ती जिले के जमदाशाही गाँव में कुछ शरारती तत्वों ने अफवाह भी फैलाई लेकिन इसके बाद भी मुस्लिम महिलाओं ने मोदी सरकार की इस योजना का समर्थन किया है। इन शरारती तत्वों ने इस योजना को मोदी जी के नाम से जोड़कर मुस्लिम महिलाओं को डराने की कोशिश भी की। मोदी सरकार की इस योजना से जुड़े डॉक्टरों ने मुस्लिम महिलाओं को बहुत ही अच्छे तरीके से इसके बारे में बताया। जिसके बाद ये महिलाओं इस योजना से जुड़ी और शरारती लोगों को करारा जवाब दिया।

गाँव के शरारती तत्वों के विरोध के बाद भी इस गाँव के साथ पूरे जिले में इंद्रधनुष योजना को काफी सहयोग मिल रहा है। इसी के साथ इस मुस्लिम बाहुल्य  आबादी वाले गाँव में अब लोगों द्वारा मोदी जी की योजनाओं को समर्थन मिल रहा है। अब यह गाँव भी तमाम तरह की अफवाहों को मिटाकर खुशहाल भारत की ओर कदम बढ़ा रहा है। इन शरारती तत्वों ने यह अफवाह फैला रखी है कि इस दवाई से मुस्लिमों की आबादी को रोकने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।

मुस्लिम इलाकों से मिशन इंद्रधनुष मिटा रहा 'मोदी फोबिया'
अपनी नातिन के साथ वहीदुननिशा
इस अभियान ने शरारती तत्वों द्वारा फैलाई गईं अफवाहों को खत्म करने में बड़ी भूमिका निभाई। जब वहीदुननिशा से पूछा गया कि इसको लेकर तरह-तरह की जो अफवाएं फैलाई जा रहीं हैं, उन से डर नहीं लगता है। इस पर वहीदुननिशा कहती हैं कि मैं यहाँ देश में फ़ैल रही बीमीरियों से बचाने के लिए आयी हूँ। इसी के साथ उन्होंने आगे कहा कि जब-जब मैडम मुझे बुलाएंगी तब मैं बिटिया को लेकर आउंगी।

जमदाशाही गाँव की महिला ग्राम प्रधान कैसरजहां कहती हैं कि पोलियो की दवा पिलाने पर शरारती तत्व तरह-तरह की अफवाह उड़ाने का काम करते थे। मिशन इंद्रधनुष ने उसे खत्म कर दिया है। कोई मां नहीं चाहती है कि उसका बच्चा निरोगी न रहें, इसके लिए सरकार द्वारा चलाया गया यह अभियान काबिले तारीफ है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...