Breaking

बुधवार, 21 फ़रवरी 2018

नीरव मोदी के पीछे है ‘पप्पू’ का बड़ा हाथ, जानिए इस ख़ुलासे के बाद मोदी सरकार ने क्या किया

 नीरव मोदी के पीछे है ‘पप्पू’ का बड़ा हाथ, जानिए इस ख़ुलासे के बाद मोदी सरकार ने क्या किया

मोदी राज में एक के बाद एक हो रहे खुलासों की लिस्ट में जबसे नीरव मोदी के घोटाले का नाम जुड़ा है तबसे इस मामले में एक के बाद एक खुलासे हुए ही जा रहे हैं। याद हो तो शुरुआत में लोगों को भ्रमित करने के लिए नीरव मोदी और पीएम मोदी की एक तस्वीर भी वायरल की जा रही थी।

जिसका मकसद था जांच एजेंसीयो को किसी भी तरह की किसी कार्यवाही से भटकाना। हालाँकि ये बात ज्यादा दिनों के लिए नहीं चली और आखिरकार इस बात का ख़ुलासा हो ही गया कि वो तस्वीर भी नीरव मोदी की एक घटिया चाल भर थी।

नीरव मोदी

तस्वीरों का सच आया सामने

दरअसल जिस तस्वीर में नीरव मोदी गर्व से देश और दुनिया के बड़े लीडर्स के सामने खड़े नज़र आ रहे हैं असल में वहां उनका जाना तय था ही नहीं। सिर्फ इतना ही नहीं बताया ये भी जा रहा है कि इस तस्वीर के खींचे जाने के समय किसी को इस बात की जानकारी भी नहीं थी कि नीरव मोदी इस तस्वीर में शामिल होने वाले हैं. ये तय ही नहीं किया था। नीरव मोदी इस तस्वीर में बेवजह और खुद की मर्ज़ी से शामिल हुए थे। यहाँ तक की इस बारे में बात करते हुए CII (भारतीय उद्योग परिसंघ) के एक उच्च अधिकारी ने बताया कि, “जिन लोगों को उस वक्त स्टेज पर जाकर तस्वीर खिंचानी थी उसमें नीरव मोदी का नाम शामिल था ही नहीं। नीरव मोदी ने यहाँ भी घपला करते हुए कुछ अन्य लोगों के साथ आकर तस्वीरें खिंचा ली जिसकी किसी को कोई जानकारी नहीं थी।”

 नीरव मोदी के पीछे है ‘पप्पू’ का बड़ा हाथ, जानिए इस ख़ुलासे के बाद मोदी सरकार ने क्या किया

तस्वीरों का सच सामने आने के बाद ‘पप्पू’ के बारे में हुआ बड़ा ख़ुलासा:

नीरव मोदी का घोटाला सामने आने के बाद ही इसमें ‘पप्पू’ का नाम भी शामिल होता नज़र आ रहा है। ये पप्पू कोई और नहीं बल्कि नीरव मोदी के बेहद ख़ास मेहुल चोकसी हैं। NDTV में छपी एक खबर के मुताबिक,  देश के सबसे बड़े बैंक घोटाले में चर्चा में भले ही नीरव मोदी है, लेकिन उनके पीछे जिसका हाथ था वो है नीरव के मामा मेहुल चौकसी। इनको हीरा बाज़ार में ‘पप्पू’ के नाम से जाना जाता है। नीरव मोदी के साथ मेहुल चौकसी भी देश छोड़कर फरार है।

मेहुल चौकसी ‘पप्पू’

जानिए इस घोटाले के सामने आने के बाद मोदी सरकार ने क्या कदम उठाये हैं?

पीएनबी घोटाले के सामने आने के बाद लगातार ही विपक्ष ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। लेकिन इस बात से परे मोदी सरकार सिर्फ इस बात पर काम करती नज़र आ रही है कि कैसे भी करके देश का पैसा वापिस आये, आरोपियों को उचित सज़ा मिले और जनता की नज़र में इस तरह के घोटालों का असल अंजाम आये। मोदी सरकार ने इस मामले को लेकर सख्ती करते हुए जल्द से जल्द उचित कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। जिसके बाद से प्रवर्तन निदेशालय इस घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। सरकार की उचित कार्रवाई के बाद भी विपक्ष और मोदी सरकार के विरोधी सरकार पर निशाना साध रहे हैं और कह रहे है कि सरकार हाथ पर हाथ रखकर बैठी है।

नीरव मोदी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जो लोग मोदी सरकार पर निशाना साध रहे हैं उन्हें पहले ये जान लेना चाहिए कि अब तक सरकार ने इस मामले को लेकर क्या कदम उठाये हैं। बता दें घोटाले के खुलासे के बाद से ही मोदी सरकार ने जाँच एजेंसियों को जल्द से जल्द उचित कार्रवाई करने के आदेश दिए थे जिसके बाद ED ने नीरव मोदी की 5100 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त कर ली थी। इसी के साथ जानकारी के लिए बता दें इस घोटाले को लेकर पीएनबी के पूर्व निदेशक ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया था कि कांग्रेस प्रमुख सोनिया गाँधी की अगुवाई में चल रही केंद्र में यूपीए की सरकार चाहती तो अपने शासनकाल में इस 11,300 करोड़ घोटाले को रोक सकती थी। उन्होंने कहा कि पीएनबी घोटाले को लेकर जिन कंपनियों की सीबीआई जांच कर रही है उनमें से एक गीतांजलि जेम्स को लेकर मैंने यूपीए सरकार के समय सवाल उठाए थे।


सरकार पर सवाल उठाने वालों के लिए बता दें PNB महाघोटाले में सुरक्षा और जाँच एजंसियों ने अब रफ़्तार पकड़ ली है। सीबीआई ने फरार चल रहे मुख्य आरोपी नीरव मोदी को पकड़ने के लिए जो कदम उठाया है उसे जानकर आप भी मोदी सरकार पर गर्व करेंगे। सीबीआई ने नीरव मोदी को पकड़ने के लिए इंटरपोल की मदद ली है, इसके लिए दुनियाभर के एअरपोर्ट पर नोटिस जा चुके हैं। अब नीरव मोदी दुनिया के किसी भी एयरपोर्ट पर दिखाई देगा तो या कहीं जाने की कोशिश करेगा तो भारत एजेंसियों को पता चल जायेगा। अब नीरव मोदी का बचना मुश्किल है, जल्द ही सीबीआई उसे गिरफ्तार कर लेगी। इस मामले में अधिकारियों की धर-पकड़ का मामला बरकार है। मोदी सरकार पहले ही आदेश दे चुकी है कि जो भी इस मामले में दोषी है उसे बख्शा नहीं जायेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...