Breaking

गुरुवार, 12 अप्रैल 2018

उन्नाव गैंगरेप: बैरिया बीजेपी विधायक का विवादित बयान, '3 बच्चों की मां के साथ कोई रेप नहीं कर सकता'

उन्नाव गैंगरेप: बैरिया बीजेपी विधायक का विवादित बयान, '3 बच्चों की मां के साथ कोई रेप नहीं कर सकता'

उन्नाव गैंगरेप मामले में बैरिया के बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह ने उन्नाव गैंगरेप के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के बचाव में बेहद शर्मनाक बयान दिया है। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि कोई भी तीन-चार बच्चों की मां से दुष्कर्म नहीं कर सकता, यह संभव नहीं है। उन्होंने अपने बयान में दावा किया कि यह कुलदीप सिंह के खिलाफ साजिश है।
बीजेपी विधायक ने कहा कि घटना के समय सेंगर घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि महिला उत्पीड़न और हरिजन उत्पीड़न के नाम पर लग रहा है कि पूरा समाज उत्पीड़ित हो जाएगा। रेप की घटना को प्रायोजित बताते हुए कहा कि मनोवैज्ञानिक आधार पर कह सकता हूं कि कोई भी तीन-चार बच्चों की मां से दुष्कर्म नहीं कर सकता, दो दिन पहले जिसके पिता की पिटाई हुई हो उसकी बेटी के साथ रेप कोई कैसे कर सकता है। धारा 324-325 में आसानी से बेल मिल जाती है इसीलिए महिला उत्पीड़न का आरोप लगाया ताकि बेल न मिल सके।

विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर को आड़े हाथो लेते हुए उन्हें बार्गेनर तक कह डाला। सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि ओमप्रकश राजभर सांप हैं। मेरा बस चले तो गठबंधन तोड़ देते।

वहीं, उन्नाव गैंगरेप की पीड़िता के चाचा का कहना है कि मैं शुरुआत से ही सीबीआई जांच की मांग कर रहा हूं। अगर एसआईटी आरोपी को शाम तक गिरफ्तार करती है तो प्रशासन पर हमारा कुछ विश्वास लौटेगा। हम दिल्ली तब तक नहीं जाएंगे जब तक कि इस मामले में निर्णय नहीं ले लिया जाता। 

आरोपी विधायक की पत्नी ने की नार्को टेस्ट कराने की मांग
उधर, आरोपी विधायक की पत्नी संगीता सेंगर अपने पति के बचाव में उतर आई हैं। उन्होंने आज उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक से मुलाकात की और अपने पति तथा पीडित युवती का नार्को टेस्ट कराने की मांग की. संगीता सेंगर ने आईजी ओपी सिंह से मुलाकात के बाद कहा, 'हमारी मांग है कि मेरे पति और लड़की एवं उसके चाचा का नार्को टेस्ट कराया जाए। इससे सच्चाई का पता लग सकेगा और सही तस्वीर सामने आएगी. हमारी लड़की के साथ पूरी सहानुभूति है... इसके पीछे राजनीतिक वजह है और मेरे पति को मोहरा बनाया गया है।' 

उन्होंने कहा, 'मेरे पति निर्दोष हैं और मेरा अनुरोध है कि उन्हें बलात्कारी ना कहा जाए। वह पिछले 15 साल से राजनीति में हैं और समाज एवं जनता का सेवा कर रहे हैं। इस घटना के कारण मेरी बेटियां पढाई में ध्यान नहीं लगा पा रही हैं।' संगीता ने कहा कि उनके देवर अतुल पर लगाए गए आरोप भी झूठे हैं। कथित बलात्कार पीड़ता एक सा बयान नहीं दे रही है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...