Breaking

गुरुवार, 11 अक्तूबर 2018

ईडी ने पी चिदम्बरम के बेटे कार्ति चिदम्बरम की जब्त की 54 करोड़ रुपये संपत्ति


पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदम्बरम के बेटे कार्ति चिदंबरम की INX मीडिया मामलें में 54 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की गई है। इसमें कार्ती का दिल्ली जोरबाग स्थित जमीन जायदाद , ऊँटी और कोडिकना के बंगले, ब्रिटेन का घर और बार्सीलोना की जायदाद समेत उनके बैंक एकाउंट भी शामिल है।
प्रवर्तन निदेशालय ने बृहस्पतिवार को बताया कि उसने आईएनएक्स मीडिया केस से जुड़े एक मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पुत्र कार्ति चिदंबरम की भारत, ब्रिटेन और स्पेन स्थित 54 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति कुर्क की है।

केन्द्रीय जांच एजेंसी ने धन शोधन निवारण कानून (पीएमएलए) के तहत भारत में तमिलनाडु के कोडैकनाल और ऊटी तथा दिल्ली के जोरबाग स्थित फ्लैट को कुर्क करने के लिए अस्थायी आदेश जारी किया हैं। एजेंसी ने कहा कि उसी आदेश के तहत ब्रिटेन के समरसेट में एक कॉटेज और एक मकान तथा स्पेन के बार्सिलोना में एक टेनिस क्लब को कुर्क किया गया है। इसके साथ एडवांटेज स्ट्रैटेजिक कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर चेन्नई के एक बैंक में रखी गई 90 लाख रुपये की सावधि जमा को भी कुर्क किया गया है।


एजेंसी का कहना है कि संपत्तियां कार्ति और उनसे कथित रूप से जुड़ी कंपनी एडवांटेज स्ट्रैटेजिक कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर हैं। उन्होंने कहा कि कुर्क की गई संपत्तियों की कुल कीमत 54 करोड़ रुपये है।


क्या है मामला 
सीबीआई ने साल 2007 में 305 करोड़ रुपये की विदेशी निधि हासिल करने के लिए आईएनएक्स मीडिया को एफआईपीबी से मिली मंजूरी में कथित अनियमितता की शिकायत पाई, जिसके बाद पिछले साल 15 मई को एफआईआर दर्ज की थी। यूपीए-1 सरकार के दौरान जब यह मंजूरी दी गई, उस वक्त पी. चिदंबरम वित्त मंत्री थे।

सीबीआई का कहना है कि पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति ने आईएनएक्स मीडिया को विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड से मंजूरी दिलाने के लिये 10 लाख डॉलर की रिश्वत ली। कार्ति पर यह भी आरोप है कि उन्होंने इंद्राणी मुखर्जी की कंपनी के खिलाफ टैक्स का एक मामला खत्म कराने के लिए अपने पिता के रुतबे का इस्तेमाल किया था।

बता दें कि इस मामले में कार्ति चिदंबरम को एक बार गिरफ्तार भी किया जा चुका है। साथ ही ईडी उनसे कई बार पूछताछ भी कर चुकी है। इससे पहले मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत में हुई सुनवाई में एयरसेल-मैक्सिस करार में कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ पी. चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी पर अदालत ने अंतरिम संरक्षण 1 नवंबर तक बढ़ा दी है। सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय की ओर से मामला दर्ज कराया गया था।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...