Breaking

मंगलवार, 26 फ़रवरी 2019

पाकिस्तान के खिलाफ भारत की बड़ी कार्यवाही, POK में घुसकर जैश के कई आंतकी ठिकानों को तबाह किया

पाकिस्तान के खिलाफ भारत की बड़ी कार्यवाही, POK में घुसकर जैश के कई आंतकी ठिकानों को तबाह किया
भारतीय वायुसेना ने मंगलवार को पुलवामा आतंकी हमले का बदला लेते हुए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसकर कई आतंकी ठिकानों को तबाह कर दिया है। भारत ने PoK में चल रहे आतंकी कैंपों को निशाना बनाते हुए भारतीय वायुसेना के विमानों से बमबारी की।

सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस ऑपरेशन को भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों ने अंजाम दिया। भारतीय वायुसेना के मिराज-2000 ने पीओके में घुसकर जैश ए मोहम्मद, हिजबुल मुजाहीद्दीन और लश्कर ए तैयबा के आंतकी ठिकानों पर 1000 किलों से ज्यादा के बम गिराए। इस हमले में कई आतंकी ठिकाने और लॉन्च पैड तबाह हुए है। भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई में 200 से 300 आतंकी मारे गए है।

खबर है कि 3 जगहों पर भारतीय वायुसेना ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जैश के 12 ठिकानों को तबाह किया है। ऐसा बताया जा रहा है कि पीओके में बालाकोट, चकोटी और मुजफ्फराबाद में आतंकी कैंप तबाह किए गए है। भारतीय वायुसेना ने सुबह 03 बजकर 45 मिनट पर बालाकोट में हमला किया, 03 बजकर 48 मिनट पर मुजफ्फराबाद पर और 03 बजकर 58 मिनट पर चिकोटी में हमला किया। वायुसेना ने करीब 21 मिनट तक पीओके में बम गिराए। 

LIVE अपडेट

- इस हमले में जैश के कई आतंकी और कमांडर मारे गए हैंः MEA

- इस आतंकी कैंप में मसूद अजहर के करीबी मौलाना युसुफ अजहर के होने की पुख्ता जानकारी थीः MEA

- इस कार्रवाई में आतंकियों के ठिकानों को भारी नुकसान हुआ हैः MEA

- इस कार्रवाई में जैश के सरगना मसूद अजहर का रिश्तेदार चला रहा थाः MEA

- इस कार्रवाई में आम लोगों को टारगेट नहीं किया गयाः MEA

- भारतीय वायुसेना ने आज पीओके के बालाकोट में घुसकर जैश के कैंपों को तबाह कर दियाः MEA

- ऐसी सूचना मिली थी कि पीओके में चल रहे जैश के कैंपों में भारत के खिलाफ हमले की साजिश चल रही थीः MEA

- लेकिन पाकिस्तान ने अपनी जमीन का आतंक के लिए इस्तेमाल बंद नहीं कियाः MEA

- पाकिस्तान से भारत ने लगातार कहा कि वह इन आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करेः MEA

- जैश आतंकियों के पीओके में ट्रेनिंग कैंपों की जानकारी कई बार पाकिस्तान को दी गईः MEA

- 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले में जैश के आंतकियों की भूमिका थी- MEA

- भारतीय विदेश मंत्रालय के सचिव विजय गोखले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की

- पाकिस्तान के विदेश मंत्री और पीएम इमरान खान के बीच बैठक जारी है.

- पंजाब सीमा पर आकाश मिसाइल तैनात कर दी है.

- पाकिस्तान की सीमा से सटे इलाकों में वायुसेना की यूनिट को तैनात किया गया है

- आतंक के खिलाफ भारत की कार्रवाई से बौखलाया पाकिस्तान

- गुजरात के कच्छ में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी ड्रोन को गिराया है

- पीओके में भारत की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में हड़कंप मचा हुआ है. इमरजेंसी बैठक बुलाई

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार अजीत डोवाल ने पीएम मोदी को इस हमले की पूरी जानकारी दी है। पीएमओ में सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेट (CCS) की बैठक हुई। बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और एनएसए अजीत डोवाल, वित्त मंत्री अरुण जेटली और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ रक्षा, गृह और विदेश मंत्रालय के अधिकारी भी मौजूद रहे। भारतीय वायुसेना की तरफ से गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस को अलर्ट पर रखा गया है। वहीं एलओसी पर वायुसेना और एयर डिफेंस सिस्टम को अलर्ट पर रखते हुए पाकिस्तान की एयरफोर्स के खिलाफ तुंरत कार्रवाई के निर्देश दिए है।

भारतीय वायुसेना ने ये सर्जिकल स्ट्राइक आज सुबह 03.30 बजे की. भारतीय वायुसेना ने जैश ए मोहम्मद के कई ठिकानों को तबाह कर दिया है। बता दें कि पीएम मोदी ने पुलवामा हमले के 24 घंटे के अंदर बड़ी कार्रवाई करने का फैसला लिया गया था। पुलवामा हमले के बाद हुई इस कार्रवाई को पाकिस्तान ने स्वीकार कर लिया है।

पाकिस्तानी सेना ने माना है कि भारतीय वायुसेना पीओके में दाखिल हुई है। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफ्फूर ने दावा किया कि भारतीय वायुसेना के विमानों ने लाइन ऑफ कंट्रोल का उल्लंघन किया है। पाक सेना के प्रवक्ता ने ट्वीट किया, 'भारतीय वायुसेना ने एलओसी का उल्लंघन किया। हमने तुरंत जवाब दिया, जिसके बाद भारतीय वायुसेना के विमान वापस अपनी सीमा में लौट गए।'

इसके बाद एक अन्य ट्वीट में गफ्फूर लिखा 'भारतीय वायुसेना ने मुजफ्फराबाद सेक्टर से घुसने की कोशिश की, समय रहते ही पाकिस्तान एयरफोर्स ने जवाबी कार्रवाई की। जिसके बाद वह बालकोट की तरफ वापस लौट गया। किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।' गफ्फूर ने इस हमले में हुई तबाही की तस्वीर भी शेयर की। 

भारतीय वायुसना के 12 मिराज-2000 लड़ाकू विमानों ने जैश के आंतकी ठिकानों पर 1000 किलो से ज्यादा विस्फोटक गिराए।

पुलवामा हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, 'शहादत का बदला लेने के लिए सुरक्षाबलों को दी गई छूट'
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि पुलवामा में वीर शहीद हुए जवानों की शहादत का बदला लेने के लिए सुरक्षाबलों को पूरी आजादी दे दी गई है। उन्होंने कहा था कि हमले से पूरे देश में आक्रोश है, इस समय लोगों का खून खौल रहा है। लेकिन देश की जनता को सेना के शौर्य पर पूरा भरोसा है। गुनहगारों को उनके किए की सजा अवश्य मिलेगी। भारत आतंक के खिलाफ अपनी लड़ाई को और भी तेज करेगा। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि मैं आतंकी संगठनों को और उनके सरपरस्तों को कहना चाहता हूं कि वो बहुत बड़ी गलती कर गए हैं। पूरे विश्व में अलग-थलग पड़ चुका हमारा पड़ोसी देश अगर ये समझता है कि जैसे घृणा वाले काम वह कर रहा है और जिस तरह की साजिशें रच रहा है, उससे वह हमारे देश में अस्थिरता पैदा करने में सफल हो जाएगा, तो वो बहुत बड़ी भूल कर रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि ऐसे हमलों का भारत डटकर मुकाबला करेगा. सारी दुनिया आज हमारे साथ खड़ी है, किसी भी हालत में हम रुकने वाले नहीं हैं। मैं पुलवामा के आतंकी हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. उन्होंने देश की सेवा करते हुए अपने प्राण न्योछावर किए हैं। दुःख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं, उनके परिवारों के साथ हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि जो हमारी आलोचना कर रहे हैं, उनकी भावनाओं को भी मैं समझ रहा हूं। उनका पूरा अधिकार है, मेरा सभी साथियों से अनुरोध है कि, ये बहुत ही संवेदनशील और भावुक समय है, इसलिए राजनीतिक छींटाकशी से दूर रहें। यह समय एक साथ मिलकर लड़ने का है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...