Breaking

मंगलवार, 5 मार्च 2019

वायुसेना प्रमुख का बड़ा बयान- "हमारा काम आतंकी ठिकानों को तबाह करना है, उनके शव गिनना नहीं"

हमारा काम आतंकियों के ठिकाने तबाह करना है, उनके शव गिनना नहीं : वायुसेना प्रमुख

पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) में जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकी ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की ओर से गई एयर स्‍ट्राइक पर सोमवार को वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की. इस दौरान उन्‍होंने साफतौर पर कहा 'हमारा काम आतंकी ठिकानों को तबाह करना है, हमारा (वायुसेना का) काम उनके शवों की गिनती करना नहीं है। यह काम सरकार का है।'

वायुसेना प्रमुख ने कहा कि भारतीय वायुसेना अभी आतंकी के शवों की संख्‍या के बारे में सफाई देने की अभी स्थिति में नहीं है। इस मामले की सफाई सरकार दे सकती है। हम मौतों को नहीं गिनते हैं, हम सिर्फ उन ठिकानों को गिनते हैं जो हमने तबाह किए होते हैं।

वायुसेना प्रमुख ने सोमवार को इस एयर स्‍ट्राइक पर सवाल उठाने वालों पर भी निशाना साधते हुए कहा कि अगर हम कोई लक्ष्‍य साधते हैं, तो हम उसे तबाह कर देते हैं। अगर ऐसा नहीं होता तो पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान इस एयर स्‍ट्राइक पर प्रतिक्रिया क्‍यों देते। अगर हम लोगों ने जंगलों पर बम गिराये होते तो इमरान खान प्रतिक्रिया क्‍यों देते।

पीओके में जैश के खिलाफ एयर स्‍ट्राइक में इस्‍तेमाल किए गए लड़ाकू विमान मिग-21 बाइसन को वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने बेहतर विमान बताया। उन्‍होंने कहा कि य‍ह लड़ाकू विमान पूर्ण रूप से सक्षम है। इसे अपग्रेड किया गया है. इसमें बेहतर राडार लगा है। साथ ही यह हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल दागने में भी सक्षम है। इसमें बेहतर हथियार प्रणाली है। उन्‍होंने जंग और एयर स्‍ट्राइक के समय हर लड़ाकू विमान को सक्षम बताया।

पाकिस्‍तान के लड़ाकू विमान एफ-16 को मार गिराने वाले भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन फिर से लड़ाकू विमान उड़ा सकेंगे। ऐसा संकेत वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने सोमवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान सवाल के जवाब में दिया। वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा कि विंग कमांडर अभिनंदन दोबारा उड़ान भर सकते हैं या नहीं यह उनकी मेडिकल फिटनेस पर निर्भर है। उन्‍होंने कहा कि यही कारण है कि उनका अभी मेडिकल चेकअप किया जा रहा है। उन्‍हें जैसे भी इलाज की जरूरत होगी, उन्‍हें मुहैया कराया जाएगा। उनकी सही मेडिकल फिटनेस रिपोर्ट हमें मिलने के बाद वह जल्‍द ही लड़ाकू विमान उड़ा सकेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...