Breaking

बुधवार, 7 अक्तूबर 2020

राजस्थान में एक और 15 वर्षीय लड़की हुई अपहरण और बलात्कार की शिकार: बनाई गई अश्लील वीडियो, आरोपित फरार

राजस्थान 15 वर्षीय लड़की बलात्कार

राजस्थान में बलात्कार की घटनाएँ थमने का नाम नहीं ले रहीं। हालिया मामला प्रदेश के बाड़मेर जिले के शिव थाना क्षेत्र का है। खबर है कि वहाँ एक 15 साल की नाबालिग का अपहरण करके उसका रेप किया गया और आरोपित वारदात को अंजाम देकर उसे सड़क पर अचेत अवस्था में छोड़ फरार हो गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लड़की का अपहरण उस समय हुआ जब उसके परिवार के लोग मतदान करने गए थे। परिजनों का कहना है कि दो युवकों ने लड़की का अपहरण कर मोटरसाइकिल पर बैठाकर घर से दूर ले जाकर उसका गैंगरेप किया और उसकी अश्लील फोटो भी खींचीं।

जब परिवार ने उसकी तलाश शुरू की तो उसका कोई सुराग नहीं मिला। बाद में पुलिस ने इस मामले को पॉक्सो एक्ट व आईटी एक्ट के तहत दर्ज करके अपनी जाँच शुरू की और लड़की को स्कूल के पास अचेत अवस्था में पाया। अब पुलिस अलग-अलग टीम बना कर आरोपितों की तलाश कर रही है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 15 वर्षीय युवती के घर से लापता होने की रिपोर्ट भियाड़ चौकी को दी गई थी, जो तलाश करने पर स्कूल के पास अचेत अवस्था में मिली। पुलिस ने प्राथमिक उपचार करवाने के बाद उसे जिला हॉस्पिटल में भर्ती करवाया।

अस्पताल में होश आने के बाद लड़की का बयान दर्ज हुआ। पीड़िता ने बताया कि उसका दो लड़कों ने पहले अपहरण किया और फिर उनमें से एक ने उसके साथ बलात्कार किया और दूसरे ने घटना की वीडियो बनाई। पुलिस ने युवती के बयान के आधार पर इस मामले में मुकदमा दर्ज किया है। आरोपितों की तलाश चल रही है।

जिला कलेक्टर विश्राम मीणा ने कहा:

पंचायती राज चुनाव के तीसरे चरण का मतदान चल रहा था, परिजन सब मतदान देने के लिए गए हुए थे। उस दौरान दो लड़के उस नाबालिग लड़की को उठाकर ले गए और उसके साथ बलात्कार की घटना हुई। पुलिस ने मामला दर्ज कर अलग -अलग टीमें बनाकर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है। कुछ संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है।

इससे पहले आज ही प्रदेश में गैंगरेप का एक और मामला चुरू जिले से सामने आया था। इसमें 19 साल की युवती से 8 दिन तक 9 लोगों ने बलात्कार किया था। एक आरोपित पीड़िता को एसएससी का फॉर्म भरवाने के बहाने गाड़ी में बिठा कर ले गया था जिसमें बाकी दो आरोपित पहले से ही मौजूद थे। सारे आरोपित मिलकर पीड़िता को राजगढ़ के एक मकान में लेकर गए।

वहाँ चारों ने न सिर्फ उसके साथ गैंगरेप किया, बल्कि पूरे वारदात की अश्लील वीडियो बना ली और आपत्तिजनक फोटोज भी क्लिक की। इसके अलावा आरोपितों पर पीड़िता को जान से मारने की धमकी देने और डराने का भी आरोप लगाया गया है।

यहाँ बता दें कि अभी पिछले दिनों हाथरस मामले के तूल पकड़ने के बाद राजस्थान में कॉन्ग्रेस नेताओं ने योगी सरकार पर खूब सवाल उठाए थे और रेप की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर प्रदेश में जंगलराज करार दिया था। हालाँकि, उसी बीच एनसीआरबी ने महिलाओं के विरुद्ध होने वाले आँकड़ों पर अपनी रिपोर्ट जारी कर राजस्थान के काले चेहरे का पर्दाफाश किया था।

सूची के मुताबिक सबसे ज्यादा बलात्कार की घटनाएँ राजस्थान में सामने आई थीं। वहाँ पिछले साल 5997 मामले दर्ज किए गए। यानी प्रतिदिन का औसत देखा जाए तो प्रदेश में हर दिन 16 रेप की घटना हुईं। सूची, रेप पीड़िताओं की संख्या भी प्रदेश में 6051 बताती है। इतना ही नहीं प्रदेश में प्रति लाख जनसंख्या पर अपराध की दर 15.9 है।



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...