Breaking

शनिवार, 10 अक्तूबर 2020

#BoycottMirzapur के बाद अब #बॉयकाट_अली_फजल ने पकड़ा जोर, सीएए विरोध में कहा था- मजा आ रहा है

Ali Fazal

बीते एक-दो दिनों से ट्विटर पर एक हैशटैग खूब चर्चा में रहा, #BoycottMirzapur। इस पर वेब सीरीज़ (मिर्ज़ापुर) में गुड्डू भैया का किरदार निभाने वाले अली फज़ल ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि वह किसी ट्रेंड की दया पर नहीं टिके हैं। वह इस तरह के किसी ट्रेंड को नहीं मानते हैं। उनकी इस प्रतिक्रिया का नतीजा यह निकला कि ट्विटर पर एक और हैशटैग ट्रेंड करने लगा #बॉयकाट_अली_फजल। यानी वेब सीरीज़ के विरोध से शुरू हुआ ट्रेंड सीधे उनके विरोध तक आ पहुँचा। 

(साभार – ट्विटर )

इस पूरे विवाद की शुरुआत साल 2019 के दिसंबर महीने से हुई थी जब देश में सीएए और एनआरसी का विरोध हो रहा था। मिर्ज़ापुर वेब सीरीज़ के को प्रोड्यूसर फरहान अख्तर ने भी विरोध किया था। इस विरोध को मद्देनज़र रखते हुए ट्विटर पर मिर्ज़ापुर 2 का बहिष्कार शुरू हुआ।

इस बहिष्कार के चर्चा में आने के बाद अली फज़ल ने अपने बयान में कहा, “हमें तय करना होगा कि हम किस तरफ खड़े हैं? क्या हम किसी ट्रेंड की दया पर टिके हुए हैं? नहीं, मैं कला को उस नज़रिए से नहीं देखता हूँ। हम केवल एक एप की दया पर निर्भर हैं, जिससे तय होता है कि कौन हमारा शो देखेगा और कौन नहीं। इसका मतलब यह बहुत नीचे गिर चुका है। मेरा मतलब है कि अगर आप ट्रेंड की बात करते हैं तो मैंने कभी किसानों के लिए कोई ट्रेंड नहीं देखा जो पूरे देश में आंदोलन कर रहे हैं। हालाँकि मैं ऐसा नहीं कह रहा हूँ कि ऐसी चीज़ें ज़रूरी नहीं है, लेकिन कोरोना की ख़बरें अब किसी को ज़रूरी नहीं लग रही हैं। अब इस तरह की ख़बरें ट्रेंड में नहीं हैं, जबकि मेरे हिसाब से यह एक बड़ी समस्या है, जिसका हम फ़िलहाल सामना कर रहे हैं। मुझे आशा है कि आम लोग इस तरह की चीज़ों से ऊपर उठेंगे।”

लोगों ने उनके इस बयान के एक हिस्से का जम कर विरोध किया, वह था ‘हम ट्रेंड की दया पर नहीं जीते हैं।’ तमाम सोशल मीडिया यूज़र्स ने इस पर प्रतिक्रिया दी। 

कुछ लोगों ने लिखा, “अब मैं मिर्ज़ापुर 2 मुफ्त में भी नहीं देखूँगा।” 

वहीं एक और ट्विटर यूज़र ने लिखा, “अब कोई भी फिल्म या वेब सीरीज़ देश के लिए वफ़ादार नहीं रह गई है।”    

देश में जब सीएए और एनआरसी का विरोध हो रहा था तब फरहान अख्तर समेत बॉलीवुड के कई कलाकारों ने विरोध किया था। इसमें अली फज़ल का नाम भी शामिल था। उन्होंने 20 दिसंबर 2019 को किए गए एक ट्वीट में लिखा था, “शुरू मजबूरी में किए थे, अब मज़ा आ रहा है।” बाद में अली फज़ल ने अपना यह ट्वीट हटा भी लिया था।

विरोध करने के दौरान फरहान अख्तर एक बार बुरी तरह ट्रोल भी हो चुके हैं। प्रदर्शन में शामिल होने के दौरान उन्होंने कहा कि विरोध करते हुए आवाज़ उठाना मेरा लोकतांत्रिक अधिकार है। उनके इस जवाब पर एक पत्रकार ने उनसे पूछा कि इस क़ानून को लेकर उनकी क्या समस्या है या उनके अनुसार इस क़ानून में क्या बदलाव किए जाने चाहिए? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “मैं अभी इस मुद्दे पर चर्चा नहीं करना चाहता हूँ, सब कर रहे हैं तो कोई वजह ज़रूर होगी।”

हाल ही में मिर्ज़ापुर 2 का ट्रेलर आया था, जिसके बाद से इसकी चर्चा जारी है। इसके अलावा वेब सीरीज़ शुरुआत से ही विवादों में घिरी हुई है। आगामी 23 अक्टूबर को मिर्ज़ापुर 2 अमेज़न प्राइम पर स्ट्रीम होगी। इस वेब सीरीज़ में पंकज त्रिपाठी, रसिका दुग्गल, विजय वर्मा, कुलभूषण खरबंदा, श्वेता त्रिपाठी, राजेश तैलंग, हर्षिता गौड़, लिलीपुट और मेघना मलिक समेत अन्य कलाकार नज़र आएँगे।



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...