Breaking

बुधवार, 7 अक्तूबर 2020

महिलाओं, सवर्णों के खिलाफ जम कर जहर उगलने वाले प्रत्याशी से MP उपचुनाव में बढ़ी कॉन्ग्रेस की टेंशन! लात-घूँसों से हुई पिटाई का वीडियो वायरल

वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट

मध्यप्रदेश में उपचुनावों के मद्देनजर राजनीति शुरू हो गई है। हाल में प्रदेश के दतिया जिले के थाना भांडेर में पूर्व सीएम कमलनाथ और कॉन्ग्रेस पार्टी प्रत्याशी फूल सिंह बरैया सहित 2 दर्जन कॉन्ग्रेस नेताओं पर कोरोना नियमों की अनदेखी किए जाने पर मुकदमा दर्ज किया गया है

प्रशासन के मुताबिक, कार्यक्रम में केवल 100 लोगों के उपस्थित होने की अनुमति थी परंतु सभा मे हजारों लोग उमड़े जिसमें न तो सुरक्षित शारीरिक दूरी रखी गई और न ही, मास्क लगाए गए। इस बीच एक दिलचस्प वीडियो भी सामने आई। वीडियो में दिखा कि एक व्यक्ति पूर्व सीएम कमलनाथ के साथ फोटो खिंचाने के लिए टाई लगा कर मंच पर आया, मगर उन्हें फोटों खिंचाने का मौका नहीं मिला और वह हाथ-पाँव पटकते रह गए

इसके अलावा सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हो रही है। कथिततौर पर यह वीडियो कॉन्ग्रेस नेता व प्रत्याशी फूल सिंह बरैया का है। इस वीडियो में वह खासतौर पर सवर्णों के ख़िलाफ़ जम कर जहर उगलते नजर आ रहे हैं।

इनकी इस वीडियो के वायरल होने के बाद लोग उनकी एक अन्य वीडियो शेयर कर रहे हैं जिसमें गुस्साई भीड़ उन्हें लात, घूँसो, जूतों और चप्पलों से मार रही है।

हालाँकि, कॉन्ग्रेस प्रत्याशी ने इस वायरल होती वीडियो को झूठा और फेक बताया है। उनका आरोप है कि भाजपा ऐसे सारे कुत्सित प्रयास कर रही है, ताकि उनका ध्यान भटक जाए और वह चुनाव पर ध्यान देने की बजाय इधर-उधर में लग जाएँ।

जानकारी के मुताबिक, सोशल मीडिया पर वायरल होती वीडियो भितरवार विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली चीनौर तहसील के गाँव भागीरथपुरा का है। जहाँ 14 अप्रैल 2016 को क्षेत्रीय विधायक लाखन सिंह यादव की मौजूदगी में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा का अनावरण किया गया था।

बता दें कि, कथिततौर पर कॉन्ग्रेस प्रत्याशी के साथ हुई मारपीट की वीडियो को सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर किया जा रहा है। वीडियो में देख सकते हैं कि क्रोधित जनता पुलिस के मना करने पर भी फूल सिंह बरैया को छोड़ने को तैयार नहीं है और लगातार लात-घूँसो, जूते-चप्पलों से उन्हें मारती जा रही है। वीडियों में उन्हें फटे कपड़ों में पुलिस के साथ जाते हुए देखा जा सकता है।

वीडियो में दिया जा रहा विवादस्पद बयान

उल्लेखनीय है कि जिस वीडियो को लेकर दावा किया जा रहा है कि फूल सिंह बरैया ने एक सभा को संबोधित करते हुए हिंदुओं के ख़िलाफ़ जमकर उलटा बोला। उसमें सुना जा सकता है कि वह कहते हैं, “अभी भी वक्त है कि अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों को जाग जाना चाहिए वरना सवर्ण देश को हिंदू राष्ट्र बना देंगे।”

उन्होंने कहा कि मुसलमानों से भारत छोड़ने की बात करने वाले सवर्णों को पहले खुद देश छोड़ना चाहिए क्योंकि वह मुसलमानों के बाद भारत आए हैं। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि अनुसूचित जाति के लोग और मुसलमान एक ही पिता की संतान हैं चाहे तो डीएनए टेस्ट करा लिया जाए।

उन्होंने ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल के एक भाषण का उदाहरण देते हुए बताया कि एक बार जब हिंदुओं ने अंग्रेजों से भारत छोड़ने की माँग की तो चर्चिल ने कहा कि अगर भारत के मूल निवासी इस बात माँग करेंगे तो विचार किया जाएगा। इसके बाद फूल सिंह बरैया ने वीडियो में सबसे एकजुट होने की अपील करते हुए कहा, “यदि हम एक हो गए तो वे 15 है हम 85, वे मुकाबला नहीं कर पाएँगे।”

सवर्ण महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी

बता दें, उनका एक दूसरा वीडियो भी वायरल हो रहा है। इसमें वह सवर्ण महिलाओं के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं। फूल सिंह बरैया कहते हैं कि सवर्ण वर्ग के लोगों का कुत्ता अगर अनुसूचित जाति के लोग छू लेते हैं तो वे उस कुत्ते को अनुसूचित जाति के घर बाँध आते हैं। इसलिए अनुसूचित जाति के लोगों को भी सवर्णों के घर जाकर उनकी महिलाओं को लड्डू खिलाने चाहिए, जिससे वह भी अछूत हो जाएँ और फिर सवर्ण वर्ग के लोग उन्हें अनुसूचित जाति के घर के लोगों के घर छोड़ आएँ। इस तरह अनुसूचित जाति के लोगों की दो-दो पत्नियाँ हो जाएँगी।



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...