Breaking

मंगलवार, 6 अक्तूबर 2020

बिहार चुनाव को लेकर NDA में सीट बंटवारे की घोषणा: JDU- 121, BJP- 121 पर लड़ेगी चुनाव, HAM को अपने हिस्से से सीटें देगी JDU

सीएम नीतीश कुमार

बिहार में सत्ताधारी एनडीए गठबंधन की ओर से सीट बँटवारे का ऐलान कर दिया गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बताया कि जेडीयू इस बार 122 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, बीजेपी के खाते में 121 सीटें गई हैं। वहीं जीतनराम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) HAM को 7 सीटें दी गई हैं। वहीं बीजेपी अपने कोटे से मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी को सीट देंगे।

इस दौरान नीतीश कुमार ने विपक्षी पार्टी खास तौर से आरजेडी पर जमकर निशाना साधा। पटना में बीजेपी-जेडीयू की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने फिर कहा कि नीतीश कुमार ही एनडीए के नेता हैं।

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा, “सीटों की सूची भी रिलीज कर दी जाएगी। हम लोग बिहार के विकास के लिए काम कर रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। बहुत सारे लोगों के द्वारा बेवजह बहुत बातें की जाती हैं मैं उन्हें मैं महत्व नहीं देता हूँ। हमसे पहले भी 15 साल दूसरे लोगों को मौका मिला, कहाँ कोई विकास का काम हुआ, क्या हालत थी बिहार की। हमने हमेशा कहा न्याय के साथ विकास। हमारे मन में कोई गलतफहमी नहीं है। बिहार को आगे बढ़ाना है, यही हमारा लक्ष्य है।”

सीएम नीतीश कुमार ने आगे कहा, “जनता मालिक है वो तय करेंगे। हमलोग बीजेपी के साथ हैं। हमलोग मिलकर काम करेंगे। किसी को अगर कुछ कहने से आनंद मिलता है कहें,हमें कोई फर्क नही पड़ता। हमलोगों के मन ने कोई कंफ्यूजन नहीं है। निर्णय लेने में थोड़ा विलम्ब किया, मगर अब सब साफ हो गया है। कुछ लोग होते हैं कुछ बोलेंगे उनका स्वभाव होता है।”

बिहार विधानसभा चुनाव में महज कुछ दिन बचे हैं। एनडीए से अलग होने के बाद बीजेपी और जेडीयू कितनी-कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेंगे साफ हो गया है। बीजेपी और जेडीयू के संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह साफ कर दिया है कि एनडीए के नेता नीतीश कुमार ही रहेंगे और उन्ही के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल ने कहा कि बीजेपी के सबसे पुराने सहयोगी नीतीश कुमार के साथ पूरे बिहार का विकास हुआ है। 15 साल में एनडीए सरकार ने बदहाल बिहार को खुशहाल बिहार बनाया है। जेडीयू से हमारा अटूट बंधन है। लोजपा नेता रामविलास का सम्मान करते हैं। मगर बिहार में NDA के नेता नीतीश कुमार हैं और रहेंगे।

बीजेपी ने उम्मीदवारों की लिस्ट को लेकर भी चर्चा पूरी कर ली है। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी इस बार कैंडिडेट्स की लिस्ट में बड़ा सरप्राइज देने की तैयारी कर रही है। पार्टी इस बार पाँच से छ: मौजूदा विधायकों के टिकट काट सकती है। यही नहीं मौजूदा विधायकों के किसी करीबी और रिश्तेदार को भी टिकट नहीं देने पर विचार भी पार्टी कर रही है।



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...