Breaking

रविवार, 4 अक्तूबर 2020

पत्थर, डंडे और छोटे बमों से TMC के गुंडों का हमला… कृषि कानून का समर्थन करना भी पश्चिम बंगाल में गुनाह!

TMC गुंडा हमला

हाल ही में पारित किए गए कृषि क़ानून को लेकर देश भर में अलग अलग प्रतिक्रिया देखने को मिली। लगभग सभी राज्यों के किसानों ने इस क़ानून को लेकर अपना नज़रिया जाहिर किया। इसी कड़ी में पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं ने कृषि विधेयक के समर्थन में रैली निकाली। इस दौरान उन पर तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने धावा बोल दिया। उनके द्वारा किए गए हमले में भाजपा के कई कार्यकर्ता बुरी तरह घायल भी हो गए, घटना के कई वीडियो ट्विटर पर साझा किए गए हैं। 

पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले स्थित नोडाखली गाँव में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कृषि क़ानून के समर्थन में शनिवार (3 अक्टूबर 2020) को रैली निकाली थी। अचानक ही तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला कर दिया। घटना के वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि उनके हाथ में पत्थर और डंडे थे यानी वह इस घटना को अंजाम देने के लिए पूरी तैयारी के साथ आए थे। अभी तक हमले की इस घटना के मामले में कुल 7 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ भाजपा पूरे प्रदेश में कृषि आंदोलन के समर्थन में रैलियाँ निकाल रही है। जिससे किसानों को इस क़ानून से होने वाले फ़ायदों के बारे में सही जानकारी दी जा सके। इस अभियान की अगुवाई भाजपा पश्चिम बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष कर रहे हैं। जिस समय भाजपा कार्यकर्ताओं 24 परगना जिले में हमला हुआ, उस ठीक उस वक्त दिलीप घोष पूर्वी मिदनापुर के हल्दिया में रैली निकाल रहे थे। 

भाजपा कार्यकर्ता सत्यपिर्ताला की तरफ मार्च करते हुए आगे बढ़े तभी उन पर यह हमला हुआ। भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि उन पर पत्थर और ईटों से हमला किया गया। कई जगहों पर छोटे बम धमाके तक किए गए, इस पूरे घटनाक्रम में कई कार्यकर्ता बुरी तरह घायल भी हो चुके हैं। हालाँकि कुछ ही समय बाद मौके पर पुलिस आई और हालात पर काबू किया गया। पुलिस इस घटनाक्रम में अभी तक कुल 7 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।  


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Advertisement :

loading...